ल्यूकोरिया : लक्षण , कारण एवं निदान Leucorrhea in Hindi

हर महिला को समय-समय पर कुछ सामान्य योनि स्राव होते हैं, जो रासायनिक संतुलन और योनि की मांसपेशियों के लचीलेपन को बनाए रखते हैं, यह योनि के लिए सामान्य रक्षात्मक प्रणाली के रूप में काम करते हैं। यदि इस तरह के डिस्चार्ज सामान्य से अधिक हो जाते हैं और एक दुर्गंधयुक्त गंध के साथ सफेद या पीले रंग का गाढ़ा तरल हो जाता है, तो इसे “ल्यूकोरिया” कहा जाता है जो संक्रमण, कैंसर का संकेत हो सकता है या कुछ अन्य कारणों से हो सकता है। इस असामान्य योनि स्राव का रंग सफेद, पीला, लाल और काला हो सकता है

Read more

चेहरे की सुंदरता के लिये आसान घरेलु टिप्स : Home Made Face Whitening Tips in Hindi

अधिकांश चेहरा सफेद करने वाले उत्पादों को ऐसी समस्याओं से निपटने और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया में देरी के लिए तैयार किया जाता है। ज्यादातर ऐसे प्रोडक्ट्स केमिकल्स से भरे हुए होते है जो हमें बहोत ज्यादा नुकशान पहुंचाते है,
और उनमे से कईं केमिकल तो कैंसर के लिये भी जवाबदार है ।
तो ऐसे मे हमने आपके लिए कुछ ऐसी चुनिन्दा टिप्स दी है जो आपको ऐसे बिना हानिकारक केमिकल के इस्तेमाल बिना सुंदरता और प्राकृतिक निखार को बढावा देगा ।

Read more

लंबे बालों के लिए कुदरती उपाय Natural Tips for long hair in Hindi

लंबे और चमकदार बाल बनाए रखना एक दिन का काम नहीं है। इसके लिए एक उचित और समर्पित बालों की देखभाल की आवश्यकता होती है, जिसका पालन करना आसान है। यदि आप रॅपन्ज़ेल की तरह लंबे बालों का सपना देख रहे हैं, तो यहां कुछ टिप्स दी गई हैं जिनका आपको पालन करना चाहिए।

Read more

प्रेग्नन्सी क्या है? लक्षण, परिक्षण एवं सबंधित समस्याएं What is pregnancy in Hindi. Symptoms, test and related problems.

गर्भावस्था तब होती है जब एक Sperm(शुक्राणु) एक अंड (Egg) का निषेचन(Fertilize) करता हैं
अंड अंडाशय(ovary) से निकलता है।
निषेचित अंड फिर नीचे गर्भाशय में जाता है, जहां आरोपण होता है। गर्भावस्था एक सफल आरोपण का परिणाम होता है।

औसतन, एक पूर्ण गर्भावस्था 40 सप्ताह तक रहती है। कई कारक हैं जो गर्भावस्था को प्रभावित कर सकते हैं

Read more

जानिए प्रेग्नेंसी के दौरान कैसा होना चाहिए आपका खानपान What should you eat and avoid in pregnancy in hindi

प्रेग्नेसी के दौरान महिलाओं को अपने खानपान का विशेष ख्याल रखने की सलाह दी जाती है। इसका कारण यह है कि गर्भवती स्त्री जो भी खाती-पीती है, उसका सीधा असर उनके बच्चे पर पड़ता है। स्वस्थ बच्चे के लिए जरूरी है कि मां इस दौरान अपने खानपान पर ध्यान रखें।

Read more