एज़ीथ्रोमायसिन टेबलेट : संपूर्ण जानकारी Azithromycin tablet uses in Hindi

एज़ीथ्रोमायसिन टेबलेट : संपूर्ण जानकारी Azithromycin tablet uses in Hindi

  • Post comments:0 Comments

प्रस्तावना Azithromycin tablet uses in Hindi

एजिथ्रोमायसिन एक एंटी बायोटिक दवाई है जो डॉक्टर के पर्चे द्वारा मिलती है। इसका उपयोग (Azithromycin Tablet Uses In Hindi) विविध प्रकार के बैक्टीरिया के संक्रमण जैसे की कान संक्रमण, नाक संक्रमण, गले का संक्रमण और त्वचा संक्रमण के इलाज में किया जाता है। एजिथ्रोमायसिन का उपयोग टॉन्सिलाइटिस , निमोनिया, टाइफाइड बुखार और गोनोरिया आदि रोगों के इलाज में भी किया जाता है।
यह दवा बैक्टीरिया के विकास को रोक कर संक्रमण को कम करने मे मदद करती है ।

एजिथ्रोमायसिन दवाई को सिर्फ डॉक्टर के परामर्श एवं देख रेख मे ही लिया जाना चाहिए क्योंकि मरीज के स्वस्थ होने के बाद डॉक्टर को निर्धारित करना पड़ता है की मरीज के शरीर में मौजूद सभी बैक्टीरिया मर चुके है या नहीं।

यह दवा खाने के बाद मरीज की स्थिति में सुधार होता है तो भी डॉक्टर से सलाह के बाद ही इस दवा का सेवन करना बंद करना चाहिए अन्यथा बैक्टीरिया का संक्रमण मरीज के शरीर बढ़ने से वापस संक्रमण का खतरा हो सकता है।

Azithromycin Tablet का सेवन अधिक मात्रा में करने से कभी कभी पेट के निचले हिस्से में दर्द, दस्त, उल्टी, चक्कर और आदि अन्य समस्याएं हो सकती है।

 

 

Azithromycin Tablet Uses In Hindi –  एजिथ्रोमायसिन टैबलेट का उपयोग

 

एजिथ्रोमायसिन का इस्तेमाल नीचे दिए निम्न रोगों के लिए किया जाता है। नीचे दिए निम्न रोगों के इलाज में डॉक्टर इस दवा को लेने की सलाह देता है। आइये जानते है इन सभी रोगों के बारे में…

Azithromycin Tablet का मुख्य उपयोग बैक्टीरियल संक्रमण को ठीक करने के लिए किया जाता है। जैसे – कान, नाक, गला, त्वचा और स्किन का संक्रमण आदि।

ऊपरी श्वसन तंत्र संक्रमण – शरीर के ऊपरी हिस्से (जैसे ग्रसनी, स्वरयंत्र, साइनस और श्वास नली का सक्रंमण) होने पर इस दवा का उपयोग किया जाता है।

निचला श्वसन तंत्र संक्रमण – शरीर के निचले श्वसन तंत्र में संक्रमण होने पर इस दवा का उपयोग किया जाता है।

ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) और साइनसाइटिस (Sinusitis) के इलाज में भी यह दवा बहुत काम आती है।

इन सभी रोगों के अलावा टॉन्सिलाइटिस , निमोनिया, टाइफाइड बुखार और गोनोरिया के इलाज में भी यह दवा काम आती है।

 

 

एजिथ्रोमायसिन टैबलेट काम कैसे करती है –

एजिथ्रोमायसिन एक बैक्टीरियोस्टेटिक एंटी बायोटिक दवाई है और इसका काम हमारे शरीर के कुछ खास प्रकार प्रोटीन के प्रोडक्शन को रोकना होता है। जैसे ही प्रोटीन का प्रोडक्शन रुक जाता है हमारे शरीर में बैक्टीरिया की संख्या नहीं बढ़ सकती ।
साथ साथ शरीर में जो बैक्टीरिया मौजूद होते है वह भी इस प्रोटीन का ना मिलने से धीरे-धीरे मरते जाते है क्योंकि वैक्टीरिया इस प्रोटीन के बिना जिंदा नहीं रह पाते।

 

 

Azithromycin Tablet की खुराक – Azithromycin Tablet Dosage In Hindi

 

 

मरीज को Azithromycin Tablet Use करने से पहले नीचे दी निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए।

भारत मे एजिथ्रोमायसिन टैबलेट 100g, 250 Mg और Azithromycin 500 मिलीग्राम मे उपलब्ध है।

आम तौर पर Azithromycin सहित कोई भी एंटी बायोटिक दवाई मरीज के वजन और आयु पर निर्भर करती है।
इस दवा का सेवन करने से पहले इसकी एक्सपायरी डेट और टैबलेट के पीछे लिखे दिशा-निर्देशों को जरूर पढ़ें।

आम तौर पर 3 से 5 दिनों तक व्यस्क व्यक्ति को प्रतिदिन 500 Mg की एक दवा लेने की सलाह दी जाती है।

हालांकि 3 दिन के बाद डॉक्टर मरीज की स्थिति के अनुसार बदलाव कर सकता है, कभी कभी व्यस्क को प्रतिदिन 250 Mg की एक दवा लेने की सलाह दी जाती है।
बेहतर प्रभाव के लिए दवा को खाली पेट भोजन से एक घंटे पहले या भोजन करने के 2 घंटे बाद लेना चाहिए।

कोर्स पूरा होने तक इस दवा को बीच में अधूरा न छोड़ें।

इस दवा का सेवन डॉक्टर की अनुमति के बाद ही बंद करे।

ओवरडोज
मरीज अगर गलती से दवा को ओवरडोज मात्रा में ले लेता है। इस स्थिति में मरीज को डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए क्योंकि ओवरडोज की स्थिति में सिर्फ डॉक्टर की बता सकते है कि इस स्थिति में क्या करना चाहिए।

 

 

Azithromycin Side Effects In Hindi – Tab Azithromycin के दुष्प्रभाव

 

Azithromycin tablet के दुष्प्रभाव निम्न प्रकार के है।

उल्टी, दस्त या हल्का सा बुखार होना साइड-इफेक्ट है। इस अवस्था में मरीज को सिर्फ दवा को लेना बंद कर देना चाहिए ।

इसके अलावा सिरदर्द या चक्कर की समस्या भी हो सकती है ऐसी स्थिति मे भी इस दवा को लेना बंद कर दें।

स्किन एलर्जी और पेट के निचले हिस्से में दर्द होना भी इसका साइड-इफेक्ट है।

यदि किसी मरीज के हृदय की धड़कन तेज हो जाती है तो वह इस स्थिति में डॉक्टर से सलाह लें।

इस दवा के सेवन के बाद कई मरीजों को गहरे रंग का पेशाब आना और सूजन की समस्या भी देखी जाती है।

 

 

 

Azithromycin Tablet Interaction in Hindi –

 

 

यदि मरीज अन्य कोई रोग के इलाज के अन्य दवा का सेवन कर रहा हो तो इस के बारे में डॉक्टर को बताएं अन्यथा यह दवा अन्य दवाओं के साथ मिलकर इंटरैक्ट कर सकती है और मरीज को गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते है।

शराब के साथ इंटरैक्शन –

शराब के साथ इस दवा का इंटरैक्शन ज्ञात नहीं है।

दवाओं के साथ इंटरैक्शन –
नीचे दी निम्न दवाओं के साथ एजिथ्रोमायसिन टैबलेट को न लें।

ड्रोपरिडोल (Droperidol)
वार्फरिन (Warfarin)
मेथाडोन (Methadone)
क्लोरोक्वीन (Chloroquine)
नेलफिनवीर (Nelfinavir)
क्लीरिथ्रोमाइसिन (Clarithromycin)
पैंटामिडाइन (Pentamidine)
मोक्सीफ्लोक्सासिन (Moxifloxacin)
कौमाडिन (Coumadin)
सीतालोप्राम (Citalopram)

रोग के साथ इंटरैक्शन –
यदि किसी मरीज को निम्न बीमारी है तो वह एजिथ्रोमायसिन दवा को न लें।

हृदय की बीमारी
आंतों में सूजन
किडनी की बीमारी
लिवर की बीमारी
पीलिया
कोंजेस्टिव हार्ट

 

 

एजिथ्रोमायसिन टैबलेट भण्डारण –

स्टोर करने से पहले दवा के पैकेट पर लिखे निर्देशों को पढ़ें।
आम तौर पर इसको 10 से 30 डिग्री तापमान पर स्टोर किया जाता है।
इस दवाई को सीधे धूप और नमी जैसे स्थानों दूर रखें ।

इस दवाई को फ्रीज या ठंडी जगहों पर भी नहीं रखना चाहिए।
किसी भी दवाई को छोटे बच्चों और जानवरों से दूर रखें।

 

 

 

कुछ जरूरी सावधानियां –

याद रखें की azithromycin एक एंटी बायोटिक दवाई है इस लिए यदि मरीज को वायरल संक्रमण (जैसे फ्लू, सामान्य सर्दी) है तो इस स्थिति में यह दवा काम नहीं करेगी।

स्तनपान और गर्भवती महिलाओं को Azithromycin Tablet सिर्फ डॉक्टर के सलाह अनुसार ही लेनी चाहिए ।

लिवर किडनी और हदय रोग वाले मरीज इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लें या अन्य कोई विकल्प का सोचे ।
पीलिया और आँतों में सूजन की बीमारी वाले मरीज को इस दवा का सेवन नही करना चाहिए।

यदि मरीज को इस दवा में मौजूद Azithromycin घटक से एलर्जी हो तो वह इसको न लें क्योंकि सूजन या साँस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

 

 

 

Azithromycin FAQ In Hindi – एजिथ्रोमायसिन टैबलेट से जुड़े सवाल जबाव

 

 

1. एजिथ्रोमायसिन टैबलेट किस काम आती है? (Azithromycin Tablet Uses In Hindi)

एजिथ्रोमायसिन टैबलेट कान , नाक, गले, त्वचा, फेफड़े और ऊपरी श्वसन तंत्र के बैक्टीरियल संक्रमण को ठीक करने के काम आती है।

2. क्या Azithromycin Tablet का सेवन करना सुरक्षित है?

यदि डॉक्टर की सलाह अनुसार इस दवा को लिया जाए तो यह नुकसान नहीं करेगी।

3. Azithromycin tablet के साइड इफेक्ट्स क्या है?

पेट मे दर्द, चक्कर आना, सिरदर्द, दस्त और एलर्जी आदि इस दवा से होने वाले साइड-इफेक्ट्स है।

4. एजिथ्रोमायसिन टैबलेट को भोजन के बाद खाना चाहिए या भोजन से पहले खाना चाहिए?

आम तौर पर बेहतर प्रभाव के लिए इस दवाई को भोजन से कुछ समय पहले या भोजन के कुछ समय बाद इस दवा को खाना चाहिए।

5. Azithromycin tablet को दूध के साथ लेना चाहिए या पानी के साथ?

आम तौर पर Azithromycin tablet को पानी के साथ लेने से यह दवा बेहतर काम करेगी।

6. एजिथ्रोमायसिन टैबलेट का असर कितनी देर में शुरू होता है?

2 से 3 घंटे में इस दवा का असर शुरू होना दिख जाता है।

7. यदि Azithromycin Tablet का असर न दिखें तो क्या करना चाहिए?

फ्लू और सर्दी होने पर यह दवा ठीक प्रकार से काम नहीं करती है।

8. एजिथ्रोमायसिन टैबलेट को स्टोर कैसे करें?

इसको 10 से 30 डिग्री के रूप टेम्प्रेचर पर इसको स्टोर किया जाता है।

9. क्या Azithromycin tablet भारत में लीगल है?

जी हाँ, यह मेडिसिन भारत में लीगल है। लेकिन सिर्फ डॉक्टर के पर्चे पर ही ख़रीदा जा सकता है।

10. क्या किडनी और लिवर पर एजिथ्रोमायसिन टैबलेट का क्या असर पड़ता है?

एजिथ्रोमायसिन का किडनी पर हल्का असर पड़ता है इसलिए किडनी की बीमारी वाले मरीज इस दवा को डॉक्टर की देख-रेख में लें।

11. क्या एजिथ्रोमायसिन टैबलेट खाने के बाद वाहन चलाना सुरक्षित है?

एजिथ्रोमायसिन टैबलेट को खाने के बाद चक्कर आने की संभावना रहती है इसलिए इसको खाने के बाद गाड़ी चलाने से बचें।

12. क्या स्तनपान कराने वाली महिलाएं Azithromycin Tablet का सेवन कर सकती है ?

Azithromycin का स्तनपान से सबंधित माहिती उपलब्ध नहीं है। इसलिए स्तनपान कराने वाली महिलाओं को azithromycin tablet का कोई अन्य विकल्प ढूंढ़ना चाहिए।

13. क्या अल्कोहल के साथ एजिथ्रोमायसिन टैबलेट ले सकते है ?

नहीं । क्योंकि इस दवा को खाने के बाद मरीज को चक्कर और नींद आने की संभावना हो सकती है।

14. किन मरीजों को एजिथ्रोमायसिन टैबलेट लेने से बचना चाहिए?

आंतों में सूजन, हृदय की बीमारी, किडनी की बीमारी और पीलिया से पीड़ित मरीजों को यह दवा लेने से बचना चाहिए।

 

 

 

 

SUMMARY – Azithromycin Tablet Uses In Hindi

 

एजिथ्रोमायसिन एक एंटी बायोटिक दवाई है जो डॉक्टर के पर्चे द्वारा मिलती है। इसका उपयोग ( Azithromycin Tablet Uses In Hindi) विविध प्रकार के बैक्टीरिया के संक्रमण जैसे की कान संक्रमण, नाक संक्रमण, गले का संक्रमण और त्वचा संक्रमण के इलाज में किया जाता है।

याद रखें की azithromycin एक एंटी बायोटिक दवाई है इस लिए यदि मरीज को वायरल संक्रमण (जैसे फ्लू, सामान्य सर्दी) है तो इस स्थिति में यह दवा काम नहीं करेगी।

लिवर किडनी और हदय रोग वाले मरीज इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लें या अन्य कोई विकल्प का सोचे ।
पीलिया और आँतों में सूजन की बीमारी वाले मरीज को इस दवा का सेवन नही करना चाहिए।

Disclaimer – कृपया ध्यान दें, एजिथ्रोमायसिन दवा को लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें यहाँ बताई गयी सामग्री सिर्फ आपकी जानकारी के लिए है ।

Don't miss out!
Subscribe To Newsletter
आरोग्य विषयक जानकारी के लिए सब्सक्राइब करें
Invalid email address
Give it a try. You can unsubscribe at any time.
Thanks for subscribing!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.