ओलिव ऑइल के स्वास्थ्य लाभ  Health Benefits of Olive oil in Hindi

ओलिव ऑइल के स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of Olive oil in Hindi

  • Post comments:0 Comments
Table Of Contents hide

ऑलिव ऑयल क्या है? What is Olive oil in Hindi

 

ऑलिव ऑयल (Olive oil in Hindi) को ऑलिव के फलों से निकाला जाता है जो भूमध्य विभाग ( Mediterranean region) की एक पारंपरिक फसल है । यह विटामिन, मिनरल, एंटीऑक्सीडेंट और कई अन्य गुणों से भरपूर होता है।

ऑलिव ऑयल का वैज्ञानिक नाम ओलीआ यूरोपीय (Olea europaea) है।
ऑलिव ऑयल को हिंदी मे जैतून का तेल कहा जाता है ।
इस लेख मे हम ओलिव ऑइल के स्वास्थ लाभ, इसके उपयोग, प्रकार ,पोषण प्रोफइल और साइड इफ़ेक्ट के बारे मे चर्चा करेंगे ।

 

ओलिव ऑइल के पोषक तत्व Nutritional values of Olive oil in Hindi

 

संयुक्त राज्य अमेरिका के कृषि विभाग (USDA) के अनुसार, जैतून का तेल का 1 बड़ा चम्मच, या 13.5 ग्राम मे निम्न पोषक तत्व होते है:

119 कैलोरी
वसा का 13.5 ग्राम, जिसमें से 1.86 ग्राम संतृप्त है
विटामिन ई के 1.9 मिलीग्राम (मिलीग्राम)
विटामिन K के 8.13 माइक्रोग्राम (mcg)

इसमें कैल्शियम और पोटेशियम के साथ-साथ पॉलीफेनोल, टोकोफेरोल, फाइटोस्टेरोल, स्क्वैलीन और टेरपेनिक एसिड और अन्य एंटीऑक्सिडेंट भी शामिल हैं।

 

यह भी पढ़ें

एंटी ऑक्सीडेंट क्या है? फायदे एवं स्त्रोत  What is Antioxidant in Hindi

जैतून के तेल के प्रकार Types of Olive oil in Hindi

 

जैतून तेल को जैतून के फल से निकाला जाता है जो रसोई के साथ-साथ अब सौंदर्य प्रसाधनों एवं हर्बल उत्पादन मे भी उपयोग किया जाता है।
बाजार मे बहुत सारे प्रकार के ओलिव ऑइल उपलब्ध है । लेकिन यह ओलिव ऑइल का प्रकार फल मे से बीज बनाने की पद्धति के आधार पर होता है नहीं की फल के प्रकार पर ।

 

1. एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल

 

यह प्रकार आज कल सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है। इसमें जैतून के फल को बिना गरमी कोल्ड प्रोसेस से तैयार किया जाता है । इसमें अम्ल की कम मात्रा बहुत कम होती है (0.8 percent )। और इसमें विटामिन, मिनरल्स और एंटी ऑक्सीडेंट की मात्रा सबसे ज्यादा होती है।
इस तेल को आज कल हमारे शरीर के लिए सबसे स्वास्थ्यप्रद तेल माना जाता है ।

हालांकि कोल्ड प्रोसेस के जरिये तेल निकालना बहुत समय लेती है इसलिए यह तेल बहुत ही महँगा होता है ।

2. वर्जिन ऑलिव ऑयल

 

जो लोग किफायती दाम मे जैतून तेल के लाभ लेना चाहते हैं, उनके लिए यह उत्तम है। इसमें अम्ल की मात्रा एक्स्ट्रा वर्जिन ओलिव के मुकाबले थोड़ी ज्यादा होती है । और विटामिन, मिनरल्स और एंटी ऑक्सीडेंट की मात्रा थोड़ी कम होती है ।

3. रिफाईंड ऑलिव ऑयल

 

इस प्रकार के ओलिव ऑइल को जैतून के फल मे से रिफाइंड की प्रोसेस से प्राप्त किया जाता है । जिसमे अन्य अशुद्धियों को निकल दिया जाता है जिसके कारण रिफाइंड ओलिव ऑइल का रंग थोड़ा हल्का होता है । इस प्रकार के तेल मे अन्य केमिकल और दूसरे खाद्य तैलो की मिलावट भी हो सकती है इसलिए इसका इस्तेमाल संभल कर करना चाहिए ।

 

4. प्योर ओलिव ऑइल

 

इस प्रकार के ऑइल की क्वालिटी वर्जिन ओलिव ऑइल और रिफाइंड ओलिव ऑइल के बिच की होती है ।

 

 

ओलिव ऑइल के स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of Olive oil in Hindi

 

olive oil ke benefit in hindi

कुदरती एंटी इन्फेलामेट्री

पुरानी सूजन को कैंसर, हृदय रोग, चयापचय सिंड्रोम, टाइप 2 मधुमेह, अल्जाइमर, गठिया और यहां तक ​​कि मोटापे जैसी बीमारियों का एक प्रमुख कारक माना जाता है।

एक्स्ट्रा वर्जिन ओलिव ऑइल को सूजन को कम कर सकता है, जो इसके स्वास्थ्य लाभ के मुख्य कारणों में से एक हो सकता है।

एंटी इन्फेलामेट्री प्रभाव एंटीऑक्सिडेंट द्वारा प्राप्त की जाती है। उनमें से प्रमुख है ओलेओकैंथल, जिसे इबुप्रोफेन के समान काम करने के लिए दिखाया गया है, जो एक एंटी इन्फेलामेट्री दवाई है ।

शोध यह भी बताते हैं कि ऑलिव एसिड, (ऑलिव ऑयल में मुख्य फैटी एसिड), सी-रिएक्टिव प्रोटीन (CRP सीआरपी) जैसे महत्वपूर्ण इन्फेलामेट्री मार्करों के स्तर को कम कर सकता है।

एक अध्ययन से यह भी पता चला है कि जैतून का तेल एंटीऑक्सिडेंट कुछ जीन और प्रोटीन को बाधित कर सकता है जो सूजन को बढ़ाते हैं ।

 

 

 त्वचा को नम रखता है

 

ओलिव ऑइल में विटामिन ई पाया जाता है जो एक एंटी ऑक्सीडेंट है। जो त्वचा को तेज धुप और अल्ट्रा वायलेट किरणों से बचाता है।

यदि आपकी त्वचा रुखी है तो रात को सोने से पहले चेहरे पर ओलिव ऑइल को लगाए और रातभर लगे रहने दें। अगली सुबह फेस वाश और और हलके गरम पानी से चेहरा साफ कर लें। आप अपने हाथ पैर मे भी ओलिव ऑइल को लगा सकते है ।

 

 त्वचा को स्वस्थ रखता है olive oil skin benefits in hindi

 

 

ओलिव ऑइल के एंटी इन्फेलामेट्री गुणों के कारण यह सूजन और मुहांसे से भी त्वचा की रक्षा करता है और सोरायसिस, एकजेमा(eczema) एवं त्वचा के कैंसर जैसी गंभीर बिमारियों से राहत देता है ।
इसके लिए एक तिहाई कप योगर्ट या दही , एक चौथाई कप शहद और दो चम्मच एक्स्ट्रा वर्जिन ओलिव ऑइल को मिलाकर चेहरे पर लगाएं और 15-20 मिनट तक रहने दें। इसके बाद हलके गरम पानी से चेहरे को साफ कर ले । हालांकि सप्ताह में सिर्फ एक बार ही लगाना चाहिए।

स्तन कैंसर को रोकता है

 

भूमध्यसागरीय देशों के लोगों में कुछ कैंसर का खतरा कम होता है खास करके स्तन कैंसर , और कई शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि जैतून का तेल इसका कारण हो सकता है ।

जैतून के तेल में एंटीऑक्सिडेंट मुक्त कणों के कारण ऑक्सीडेटिव क्षति को कम कर सकते हैं, जो कैंसर का एक प्रमुख कारण माना जाता है ।

कई टेस्ट-ट्यूब अध्ययनों से पता चलता है कि जैतून के तेल में यौगिक कैंसर कोशिकाओं से लड़ सकते हैं।

यह निर्धारित करने के लिए अधिक शोध की आवश्यकता है कि वास्तव में जैतून का तेल आपके कैंसर के खतरे को कम करता है या नहीं।

 

यह भी पढ़ें

स्तन कैंसर : लक्षण , चरण , उपचार एवं रोकथाम Breast Cancer in Hindi

मधुमेह के जोखिम को कम करता है

अवलोकन संबंधी अध्ययन और नैदानिक ​​परीक्षण दोनों बताते हैं कि जैतून का तेल, भूमध्यसागरीय आहार के साथ मिलकर, टाइप 2 मधुमेह के जोखिम को कम कर सकता है।

 

यह भी पढ़ें

डायाबिटिस क्या है ?  What is Diabetes in Hindi

डायाबीटीस का कुदरती इलाज  Diabetes Home Remedy in Hindi

 हड्डियों को मजबूत करता है

 

एक अध्ययन ऐसा दावा किया गया है कि जो लोग ओलिव ऑइल का नियमित इस्तेमाल करते हैं, उनकी हड्डियां दूसरों के मुकाबले मजबूत होती हैं।

तनाव से बचाव

 

ओलिव ऑइल के नियमित सेवन से सेरोटोनिन का स्तर बढ़ता है जो हमारे अंदर से तनाव को दूर करता है। इसके अलावा इसके सेवन से अल्जाइमर रोग के बचाव के लिए भी संशोधन कीए जा रहे है।

 

 मोटापा पर नियंत्रण

 

कई अध्ययनों ने भूमध्यसागरीय आहार (जो जैतून के तेल में समृद्ध है) शरीर के वजन पर अनुकूल प्रभाव डालने के साथ जोड़ा है।

एक अध्ययन मे 187 प्रतिभागियों को लेकर तीन साल के अध्ययन में पाया गया कि जैतून के तेल में समृद्ध आहार को रक्त में एंटीऑक्सिडेंट के स्तर में वृद्धि के साथ-साथ वजन घटाने से जोड़ा गया।

यह भी पढ़ें

मोटापा क्या है? लक्षण एवं नियंत्रण  Obesity in Hindi

एंटी-एजिंग गुण olive oil benefits in hindi for face

उम्र बढ़ने के साथ होने वाली झुर्रियों से अपनी त्वचा को बचाने के लिए दो चम्मच ओलिव ऑइल , 1 चम्मच नींबू का रस और एक चुटकी नमक ले। इससे अपने चेहरे पर रात को सोते समय मालिश कीजिए ।
ओलिव ऑइल मे पाए जाने वाले विटामिन इ, एंटी ऑक्सीडेंट के कारण आपके चेहरे पर से झुर्रियाँ धीरे-धीरे गायब होने लगेंगी। और आपका चेहरा जवान नजर आएगा। वह भी बिलकुल कुदरती तरीके से!!

 

यह भी पढ़ें

घर बैठे बनाये लोबान एंटी एजिंग क्रीम  Homemade Anti Aging Cream in Hindi

फटी एड़ी से राहत देता है

अगर आप फटी एडियों से परेशान है तो ओलिव ऑइल गरम पानी और निम्बू पानी के साथ मिलाकर रात को सोते समय एड़ी पर रगडें। इसके बाद मोज़े लगा लीजिये। नियमित इस्तेमाल से एड़ी साफ हो जायेगी और एड़ी की त्वचा की मृत कोशिकाए भी निकल जायेगी।

 

पाचन में सुधार के लिए ऑलिव ऑइल (Olive oil benefits for improving digestion in hindi) 

 

ओलिव ऑइल का नियमित सेवन करने से कब्ज़ आदि समस्याओं से आराम मिल सकता है। जैतून का तेल पेट की पाचन शक्ति को बढ़ाता है और बोवेल मूवमेंट को नियमित करता है जिसके कारण खुराक का अवशोषण और बाहर निकालने की प्रक्रिया आसान होती है।

उपयोग विधि : रात में सोते समय 30ml ऑलिव ऑयल को एक ग्लास को हल्का गरम पानी के साथ लें।

 

यह भी पढ़ें

पाचन में सुधार के लिए 5 योग आसन 5 Yoga For Improve Digestion In Hindi

माइग्रेन के सिरदर्द से आराम Olive oil benefits for migraine headache in hindi

 

शोधकर्ताओं का कहना है की कि जैतून के तेल की 50 ग्राम दैनिक खुराक वयस्क दर्द से राहत के लिए अनुशंसित इबुप्रोफेन की खुराक के लगभग 10 प्रतिशत के बराबर है। हालांकि यह एक सिरदर्द का इलाज नहीं करेगा, नियमित रूप से जैतून का तेल का सेवन इबुप्रोफेन के दीर्घकालिक लाभ जैसे कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है।

इसके अलावा दो महीनों तक लगातार रोजाना ऑलिव ऑयल का सेवन करने से माइग्रेन में होने वाले सिरदर्द से आराम मिलता है।

आप सिर में दर्द होने पर जैतून के तेल से सिर की मालिश भी कर सकते है।

यह भी पढ़ें

सिरदर्द के प्राकृतिक उपचार Headache Home Remedies in Hindi

पुरानी सूजन को कम करता है

 

ओलिव ऑइल मे लगभग 14% सेचूरेटेड फैट है, जबकि 11% पोली अन सेचूरेटेड फैट है, जैसे कि ओमेगा -6 और ओमेगा -3 फैटी एसिड ।

लेकिन जैतून के तेल में प्रमुख फैटी एसिड एक मोनोअनसैचुरेटेड फैट होता है जिसे ओलिक एसिड कहा जाता है, जो कुल तेल सामग्री का 73% है।

अध्ययनों से पता चलता है कि ओलिक एसिड सूजन को कम करता है और यहां तक ​​कि कैंसर से जुड़े जीनों पर लाभकारी प्रभाव पड़ सकता है ।

मोनोअनसैचुरेटेड फैट भी उच्च गर्मी के लिए काफी प्रतिरोधी है, जिससे एक्स्ट्रा वर्जिन ओलिव ऑइल खाना पकाने के लिए एक स्वस्थ विकल्प बन जाता है।

 

बालों के लिए जैतून के तेल के लाभ olive oil benefits in hindi for hair

 

ओलिव ऑइल सिर्फ खाना पकाने मे ही नहीं लेकिन बालों मे भी इस्तेमाल किया जाता है। इसमें पाए जाने वाले विटामिन ई, विटामिन बी, जिंक, कैल्सियम और अन्य कई एंटी ऑक्सीडेंट बाल को झड़ने से बचाता है।

उपयोग :
आधा कप ओलिव ऑइल को दो चम्मच शहद और एक अंडे के पीले हिस्से(egg yolk) को पेस्ट बनाकर बाल पर लगाएं और 15-20 मिनट तक छोड़ दें। इसके बाद हलके गरम पानी से साफ कर लें और फिर कंडीशनर लगा लें। ओलिव ऑइल का प्रयोग आप प्री कंडीशनर की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे गरम करके अपने सकाल्प पर लगाएं और 15-20 मिनट बाद हलके गरम पानी से धो लें।

 

ओलिव ऑइल के साइड इफेक्ट्स एवं सावधानी Side effects and precautions of Olive oil in Hindi

 

 

ऑलिव ऑयल के साइड इफ़ेक्ट मे मुहांसे, त्वचा पर लाल चकत्ते, या दस्त की समस्या हो सकती है।

ऑलिव ऑयल के सेवन की सावधानी

संवेदनशील त्वचा वाले लोग :
जिन लोगों की त्वचा अत्यधिक संवेदनशील है उन लोगों को जैतून के तेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए । या फिर पहले अन्य तेल के साथ थोड़ी सी मात्रा मे मिक्स करके एक छोटी सी मात्रा को अपनी त्वचा पर लगाकर चेक कर लेना चाहिए ।

तैलीय त्वचा वाले लोग :
जिन लोगों की त्वचा तैलीय या ऑयली है उन्हें जैतून के तेल का उपयोग नहीं करना चाहिए । जैतून के तेल से त्वचा और ऑयली हो जाती है और मुंहासे होने की या बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है।

 

 

 

ओलिव ऑइल मुख्य रूप से एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जो कैंसर, डायबिटीज, मोटापा सहित बहुत सारी बिमारियों से बचाने मे फायदेमंद है ।
अपने अनगिनत फायदे (olive oil ke benefit in hindi) के कारण ऑलिव ऑयल तेजी से दुनिया का पसंदीदा तेल बन रहा है। कई भूमध्य आहार का यह अद्भुत रहस्य अब पूरे विश्व मे आनंद लेने के लिए उजागर है।

Don't miss out!
Subscribe To Newsletter
आरोग्य विषयक जानकारी के लिए सब्सक्राइब करें
Invalid email address
Give it a try. You can unsubscribe at any time.
Thanks for subscribing!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.